किसानों की आमदनी को बढ़ाएगी जैविक बागवानी व कृषि उद्यम

केंद्र में आई भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किसानों की आर्थिक स्थिती को सुधारने और उन्हें स्वरोजगार के नए अवसर प्रदान करने के लिए कई कदम उठा रही है। किसानों की आमदनी को कैसे बढ़ाएं इस ओर सरकार ने​ विशेष पहल की है। नई पहल के तहत बाजार की मांग के अनुसार खास कृषि उत्पादों को महत्व दिया जाएगा। किसानों को दलहन, अनाज, गेहूं के साथ साथ बागवानी के लिए भी प्रोतसाहित किया जाएगा। भारत सरकार की राष्ट्रिय बागवानी मिशन व राष्ट्रिय ​कृषि विकास योजन के अंतर्गत खेती का विस्तार और नई प्रौद्योगिकी के तहत हर तरह का लाभ किसानों तक पहुंचाया जाएगा।

 

 

यही नहीं इस योजना में व्यापारिक फसलों को अधिक बढ़ावा दिया जाएगा। अभी तक भारत सरकार की कृषि मंत्रालय इस नई पहल को देश के 19 राज्यों के चार सौ से अधिक जिलों में चला रही थी । लेकिन अब इसे  बढ़ाकर 29 राज्यों के 638 जिलों तक विस्तार किया जा रहा है। बीते कुछ दिनों में घरेलू बाजार में दालों और दलहन की आपूर्ति की वजह से दालों के दाम काफी बढ़ गए हैं।

 

 

आपको बता दें बागवानी मिशन के तहत बाजार में जैविक उत्पादों की मांग काफी बढ़ रही है। और इसके किसानों को अच्छे मूल्य भी मिलते हैं।इस समय देश के 2.70 लाख हेक्टेयर में जैविक बागवानी की जा रही है।

 

जिसमें बाजार के मांग के अनुसार फसलों और फल व सब्जियों को उगाया जा रहा है। किसानों को जैविक बागवानी के लिए फलों व सब्जियों के अच्छे बीज मिलें इसके लिए भारत सरकार बीज मिशन की शुरूआत भी कर रही है।

 

इस पूरी योजन के तहत किस तरह से किसानों की उपज को बढ़ावा दिया जाए जिससे सरकारी खरीद होने के साथ—साथ किसानों की आमदनी को भी बढ़ाया जा सके।

 

यही नहीं किसान भाइयों भारत सरकार कृषि से जुड़े अन्य साधनों जैसे पशुपालन, डेयरी व पॉल्ट्री
जैसी चीजों को भी बढ़ावा दे रही है। इन सब के लिए सरकार किसानों को ऋण तक भी दे रही है। ताकि किसानों को हर संभव साहयता मिल सके।

Loading...