पीलिया का घरेलू उपचार

पीलिया एक गंभीर बीमारी है। जिसे जॉन्डिस कहा जाता है। पीलिया की बीमारी लाइलाज नहीं है लेकिन यदि सही समय पर इसका इलाज न हो तो इससे इंसान की जान भी जा सकती है। लीवर में संक्रमण की वजह से पीलिया होता है। यही नहीं हानिकारक बैक्टीरिया भी पीलिया की बीमारी कर सकता है।
पीलिया की बीमारी के कारण
आपके लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि पीलिया की बीमारी का क्या कारण है।
कुछ वजह एैसी होती हैं जो सीधे पीलिया की बीमारी के लिए जिम्मेदार होती हैं।
अधिक शराब का सेवन करना
गंदे पानी का सेवन
अधिक तेज मिर्च मसालेदार और तिखी चीजों का सेवन करना आदि।

अब आपको बताते हैं जब इंसान को पीलिया रोग होता है तो उसके शरीर पर क्या—क्या लक्ष्ण​ दिखाई देते हैं।

आंखों का पीला होना या पीलापन आना।
खाना खाने की इच्छा ना होना।
भूख ना लगना।
चेहरे व शरीर का रंग पीला होना।
थकान लगना।
मितली या उल्टी आना।
पेशाब में जलन और पीलापन होना।
कम काम करने पर भी थकान लगना।

पीलिया का घरेलू इलाज
अब आपको बताते हैं पीलिया की बीमारी से बचने का घरेलू उपाय।
दही का सेवन पीलिया में
दही में कई प्रकार के गुण होते हैं जो सीधे पीलिया की बीमारी को ठीक कर देते हैं। आप नियमित दही का सेवन करें।

शहद और केले का इस्तेमाल
पीलिया से बचने के लिए आप केले और शहद का सेवन जरूर करें। पीलिया की बीमारी से ग्रसित लोगों को भोजन करने के
बाद केले का सेवन और शहद की दो चम्मच का सेवन करना चाहिए।

गन्ने का रस
ये बात सच है कि गन्ना खाने वाले लोगों को पीलिया नहीं होता है। यदि आप पीलिया की बीमारी से परेशान हैं तो गन्ने का रस
पीएं।
पुदीना के पत्ते
लीवर की खराबी की वजह से पीलिया होता है। आप पुदीना की पत्तियों रस बना लें और उसका सेवन दिन में कम से कम तीन बार पीएं। इससे जल्द ही आपको प​ीलिया की बीमारी से मुक्ती मिल जाएगी।

टमाटर का सेवन करना
विटामिन सी की प्रचूर मात्रा होती है टमाटर में। टमाटर हमारे लीवर को स्वस्थ बनाता है। और हम पीलिया की बीमारी से बच जाते हैं।

नींबू का सेवन करना
नींबू पीलिया के रोगियों के लिए रामबाण औषधि है। इसलिए दो से तीन बार रोज नींबू का पानी का सेवन करें।

मूली का रस पीएं
दो से तीन ग्लास मूली का रस पीने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है।

पनीर, रसगुल्ला का सेवन करना
दूध और दूध से बनी पनीर आदि का सेवन या रसगुल्ला का सेवन करने से भी पीलिया रोग ठीक हो जाता है।

तुलसी के पत्ते
तुलसी के पत्ते हमारे लीवर की परेशानी को दूर करते हैं। सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते खाने से पीलिया की बीमारी ठीक हो जाती है।
पिलिया की बीमारी से ग्रसित लोगों को परहेज की बहुत जरूरत होती है।

  • पानी साफ पीएं। उबाल कर उसे ठंडा करके पीएं।
  • अधिक मसालेदार भोजन ना करें।
  • कैल्श्यिम से भरपूर चीजों का सेवन करें।
  • कॉफी और चाय का सेवन कम कर दें।
  • तेल की चीजों और तेज मिर्च मसालेदार भोजन ना करें।
  • ऐसी चीजेें खाएं जो पेट का गर्म रखती हों।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *