किसानों के लिए लाभदायक मित्र कीट !!

कीटों के बारे में यही सुना जाता है की यह हमारी खेती को खत्म कर देते हैं। इसलिए इनसे हमेशा अपने खेतों का बचाव करना चाहिए। लेकिन दोस्तों कुछ कीट हमारी फसलों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। चलिए जान लेते हैं उन कीटों के बारे में।

ये मित्र कीट किसानों के लिए लाभदायक होते हैं

इन्द्रगोप भृंग (काक्सीनेल्ला) 

यह एक परभक्षी कीट है। इसके अण्डे पीले रंग के होते है। इसकी सूंडियां लम्बी, शंखीय आकार की व काले रंग की होती है। वयस्क अवस्था में ये पीले रंग के होते है एवं शरीर पर काले धब्बे होते है। इस कीट की संूड़िया एवं वयस्क दोनों ही चेपा कीट को खाते हैं। संूड़िया वयस्कों की तुलना में अधिक कीटों को खाती है। इस कीट को लेडी बर्ड बीटल भी कहते है।

क्राइसोपा (Chrysopa)

यह एक परभक्षी कीट है इसके वयस्क मुलायम व हल्के हरे रंग के होते है। इस कीट के पंख जाल के आकार के व खूबसूरत होते है इस कारण से इनको लेस विंग भी कहते है। ये एक विशेष प्रकार के अंडे देते है। जिसमें अंडे के नीचे धागे की तरह पतला अंडा होता है। ये अंडे अलग -अलग समूह में देते है। इसके लार्वा सफेद रंग के होते है जिनके मुखांग दरांती की तरह तेज होते है। इन तेज आरी के समान मुखांगो द्वारा ये चेपा, थ्रिप्स, सफेद मक्खी व अन्य कीटों के अंडों को बड़ी तेजी से खाता है।

ट्राइकोग्रामा (Trichogramma) फायदेमंद होता है किसानों के लिए

यह एक परजीवी कीट है जो कि बहुत ही छोटे आकार के व गहरे काले रंग के होते है। इसकी वयस्क मादा हानिकारक कीटों के अंडों में अपने अंडे देती है। इसके शिशु पोषक अंडे को खाकर अंदर ही बड़े होते है व प्रौढ़ बनकर बाहर निकालते है। जिससे कि पोषक अंडे नष्ट हो जाते है।

मकड़ी- spider

यह एक परजीवी कीट है। इसके शिशु व वयस्क दोनों ही पौधों पर लगने वाले कीटों को खाती है। ये बहुत ही तेज व चतुर होते है जो कीटों को आसानी से अपने जाल में फंसा लेती है। इस प्रकार ये एक दिन में लगभग 5-15 कीटों को खा जाती है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *